भाई बहन सेक्स को अंजाम तो दिया लेकिन बहन को खो दिया

bhai bahan sex stories in hindi
Spread the love

ये भाई बहन सेक्स कहानी मेरी लाइफ का सबसे बड़ा पाप था , छोटी बहन की चुदाई मैंने बस एक बार और आखिरी बार की , उसके बाद मैंने अपनी बहन को हमेसा के लिए खो दिया , उसने फिर मुझसे कभी बात नहीं की अब उसकी शादी भी हो गयी है।मैंने बहुत सारी xxx हिंदी स्टोरीज पढ़ी है, लेकिन ये मेरी कोई ऐसी स्टोरी नहीं है मेरी बहन बहुत ही अच्छे चरित्र की औरत है वो बस एक गलती थी मेरी और उसके बीच में।
बात आज से करीब 6 साल पहले की है तब मेरी मेरी 26 साल थी और मेरी बहन 22 साल की थी , वो काफी सीधी और मासूम थी और अभी भी है , उसका फिगर एक नार्मल लड़की जैसा था वो कोई पोर्न एक्ट्रेस के जैसी बड़े बूब्स या बड़ी गाड़ वाली नहीं थी , है अब उसके स्तन और गाड़ काफी बड़े हो गए।

Bhai bahan chudai kahaniya
उसकी शादी के 3 साल हो गए है एक बच्ची भी है तो ऐसे में लड़कियों के बूब्स और गाड़ थोड़ा बड़े हो जाते है नेचुरल है। हम लोग मिडिल क्लास फॅमिली से है और हमारे परिवार में भाई बहन सेक्स के बारे में सोचना भी बहुत बड़ा पाप है , लेकिन मेरी कुछ गलत लड़को के साथ में रहने से गन्दी आदत लग गयी।
मै परिवार में सेक्स की कहानिया पढ़ने लगा काफी उस बीच , जिससे मेरी सोच गन्दी हो गयी। मेरी बहन दीपा मिश्रा (काल्पनिक नाम ) , धीरे धीरे बड़ी हो रही थी , गन्दी कहानियो से मेरी दिमाग में उसके लिए गलत ख्याल आने लगे।
मै तिरछी नज़र से अपनी बहन के बूब्स को देखने लगे , वो अब जब झाड़ू लगाती तो भी मेरी नज़र उसके बूब्स पे रहने लगी , नजरे चुरा के उसके चूचियों को ढूढ़ने की कोसिस करता ,
हालाँकि वो ढंग के कपड़ो में रहती थी घर में तो ज्यादा कुछ देखने को नहीं मिलता लेकिन फिर मै कोसिस करता की वो झुके तो थोड़े बूब्स के झलक पा जाऊ।
कुछ दिन तक ये चीजे ऐसी ही चलती रही लेकिन फिर भी मेरी मन में कभी बहन की चुदाई का ख्याल नहीं आया था , क्युकी मेरे लिए ये असंभव जैसी चीज थी , क्युकी मुझे पता था की भाई बहिन सेक्स तो क्या मै दीपा के बूब्स को भी टच कर लूंगा तो बवाल हो जायेगा।
बहन की नज़रो में तो गिरूंगा ही साथ में बाप मेरे मुझे बेल्ट ही बेल्ट पेलेंगे।
मैंने http://incestsexstory.in/ पे चुदाई की कहानिया पढता था , उसमे एक स्टोरी थी रिमोट के खेल में बहन की चुदाई , उसको पढ़के मेरे अंदर अलग सी गर्मी आ गयी और लौड़ा खड़ा हो गया , मैंने उस हिंदी सेक्सी स्टोरी पढ़ने के बाद दीपा के नाम की मुठ मारी।
उस कहानी को पढ़के मुझसे की शायद ये चीजे मुनकिन हो सकती है और मै बहन की चुदाई कर सकता हु।
दीपा के नाम की मुठ मरने के बाद मुझे काफी अफसोस भी हुआ की कितना गन्दा आदमी हो गया हु मै , अपनी बहन के साथ सेक्स के बारे में सोचके मुठ मार रहा हु , और सोचा की तुम्हारे सपने में भी बहन की चुदाई के बारे में नहीं सोचूंगा।
लेकिन ये सब चीजे तब तक ही होती है जब तक माइंड कण्ट्रोल में रहे , मैंने उस रात फिर बहन के साथ सेक्स के कहानी पढ़ी और पागल हो गया।

Bahan ko jabardasti choda
मै उस दिन दीपा के रूम में गया और उसके बेड के बगल में पड़ी खटिया पे लेट गया , और सोने की एक्टिंग करते हुए अपना एक हाथ बहन के चूचियों पे रख दिया , वो बहुत अलग एहसास था। बूब्स काफी मुलायम थे शायद सोते वक़्त दीपा अपनी ब्रा उतार के सोती है , मैंने बहुत हलके हाथो से छोटी बहन के बूब्स को सहला रहा था , मै उस दिन रिस्तो की सारी मर्यादा को तोड़ के रिस्तो में चुदाई की हसरत लेके बहन की चूचियों को सहलाने लगा।
दीपा को कुछ पता नहीं चल रहा था क्युकी मैंने काफी हलके हाथ रखे थे , तभी दीपा मेरी तरफ मुद गयी और उसके बूब्स मेरे हाथो पे थे पूरी तरह , जिससे बूब्स काफी जोर मेरे हाथो पे आ रहा था , मुझे काफी मज़ा आ रहा था मैंने हलके हाथ ऊपर नीचे किये और बूब्स को दबाने का मज़ा फील करने लगा।
वो हलकी हिली तब तक मैंने हाथ उसके बूब्स से हटा लिए और नार्मल सोने की एक्टिंग करने लगा , और दीपा वापस से सो गयी , थोड़ी देर बाद मैंने शामे काम किया और पूरी रात हलके हाथो से ही बहन के बूब्स को फील किया।
जब सुबह हुई तो दीपा ने मुझसे पूछा भैया आज आप यहाँ सो रहे थे , मैंने कहा हां यार वो काफी मच्चर आ रहे थे रूम में बहार से तो मैंने सोचा इस रूम में सो जाऊ। उसने कहा की कोई बात नहीं और हम बहार चले गए , योग वगेरा किया। वो भी योग कर रही थी और उसके बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे मैंने जिन्हे घूर रहा था भूखे इंसान की तरह।
अब मेरे दिमाग में भाई बहन सेक्स की बाते ही घूम रही थी , छोटी बहन के साथ सेक्स दुनिआ का सबसे बड़ा पाप ये पता था मुझे उसके बाद भी मै नहीं समझ पा रहा था की कैसे खुद पे काबू राखु।
मैंने सोचा की खेल खेल में बहन की चुदाई के बारे में मैंने काफी xxx स्टोरीज पढ़ी है मैंने , एक बार मै भी कुछ कोसिस करके देखता हु , लेकिन दिक्कत ये थी की मेरी बहन इतनी प्यारी थी की वो लड़ाई करती ही नई थी , उससे रिमोट मांगू तो एक बार में ही दे देती थी , लूडो के खेल में चुदाई नहीं हो सकता था क्युकी वो वह भी बहुत अच्छे से खेलती थी ,
भाई बहन सेक्स कैसे कोई कर सकता ये मेरे सोच से एक दम बाहर था। दीपा किचन में खाना बना रही थी मैं गया वह और उसके पीछे खड़ा होक ऊपर से चम्मच उतारने लगा जिससे मेरी लौड़ा पीछे से दीपा की गाड़ में रगड़ खा रहा था , ये मुझे बहुत सही लगा।
अक्सर मै किचन में किसी बहाने से जाने लगा और पीछे से बहन की गाड़ में अपना लंड डालने लगा , कभी कभी तो काफी जोर लगा देता और गुस्से में मुड़ जाती लेकिन कुछ कहती नहीं। मैंने जब उसकी गाड़ पे हाथ रखके गाड़ को दबा दिया तो उसने बोल दिया की भैया क्या कर रहे हो आप , थोड़ा संभाल के नहीं उतर सकते क्या बर्तन।
भाई साहब उसके गुस्से वाला चेहरा देखके मै समझ गया की सीधे तरिके से बहन की चुदाई पॉसिबल नहीं है अब , लेकिन मै बहन के साथ करने के लिए पागल था , मैंने एक कहानी पढ़ी जिसमे लिखा था की बहन के कोल्डड्रिंक में दवाई मिलके बहन को चोदा।
मुझे लगा की दीपा को चोदने के ये एक अच्छा तरीका हो सकता है , मै सही समय का इंतज़ार करने लगा की कब मम्मी पापा कही जाये और घर में मै और दीपा अकेले रहे जिससे , अकेले घर में बहन की चुदाई का प्लान कर पाउ।
काफी लम्बे वक़्त के बाद ऐसा आया , मम्मी और पापा दूसरे सहर में एक शादी में गए थे , उस दिन मै और दीपा अकेले थे और बाते कर रहे थे।
मैंने बहन से कहा की कुछ खाना है क्या तुम्हे , उसने कहा की हां आप मार्किट से जाके गरम गरम जलेबिया ले आओ , मुझे अब मौका मिल गया था , मैंने जलबिया न लेके समोसे , कोल्ड ड्रिंक के साथ नशे के दवाई ले आया।
मैंने कोल्ड ड्रिंक में नशे की गोली मिलके दीपा को पीला दिया उसने पिया और समोसे खाये। फिर ऐसी ही मस्ती टाइम पास कर रहे थे , उसने पूछा भैया आज खाने में क्या बनाऊ , मैंने कहा की शाम को देखते है।
हम टीवी देखने लगा , उसमे एक इरोटिक सीन आया जिसमे हीरोइन आवाज़े निकाल रही थी सेक्स करते हुए , उसे बहुत अजीब लग रहा था मेरे सामने ऐसा सीन देखके।
ऐसे ही बातो बातो में मैंने दीपा से पूछा तुम्हारा कोई बॉय फ्रेंड है , उसने कहा नहीं भैया , ये सब चीजे मुझसे नहीं चाइये। पढ़ लिखके पापा का नाम रोशन करना है , ऐसी चीजे नहीं करनी है। उसे हल्का हल्का नशा होने लगा था।

Bahan ka doodh piya
रूम में हलकी कलर लाइट जल रही थी जिससे काफी रोमांटिक फील आ रहा था मुझे , वो नशे में उठी और गण बजाके नाचने लगी , मै भी झूम रहा और सोच रहा की दीपा कब पुरे नशे में आएगी और मै नशा का फायदा उठके बहन की चुदाई कर पाउँगा।
वो नाचते नाचते गिर गयी मैंने उसे संभाला और बोलै क्या हुआ , उसने कहा की पता नहीं भैया हल्का चक्कर सा आ रहा है , मै उसे लेके रूम में ले गया , वह दीपा को लेटा दिया , लेकिन ये काफी अजीब हो रहा था क्युकी उसे बिलकुल होश नहीं था मैंने सोचा था की नशे में बहन की चुदाई करूँगा , लेकिन बेहोस बहन को नहीं चोदने का प्लान था कोई भी।
बेहोस इंसान को चोदने का क्या ही फायदा क्युकी वो कोई रियेक्ट ही नहीं करता , लेकिन दीपा बहुत सेक्सी लग रही थी , मैंने उसको लेटाया और बहन के सर पे हाथ फेरने लगा , बहन पूरी तरह बेहोस हो चुकी थी।
मैंने हलके से बहन के बूब्स को छुआ , मेरे लंड में करंट दौड़ गया , मैंने थोड़ा छोटी सगी बहन के चूचियों पे अपने हाथ के प्रेशर बढ़ाया। अब मै अलग दुनिआ में था और जानवर बनने लगा था , बस मन में था की टॉप फाड़ के बहन की चूचियों का सर दूध पि जाऊ , और आज मुझे कोई भी रोकने वाला नहीं था। भाई बहन सेक्स जैसा पाप होने से खुद को बचा पाना मेरे लिए असंभव हो रहा था।
मै जो चाहु आज अपने बहन के शरीर के साथ कर सकता था , मैंने बहुत प्यार से दीपा का टॉप उतर और उसके ब्रा के हुक को खोला ,
मेरे सगी बहन की नंगी चूचिया मेरी आँखों सामने थी , मुझे इस दिन के हमेसा से इंतज़ार था , मै बहन के बूब्स पे टूट पड़ा और बेदर्दी के बहन की चूचिया चूसने लगा।
मैंने दोनों से हाथो से बूब्स को मुँह में भरके निप्पल्स को ऐसे चूस रहा था की जैसे कोई छोटा बच्चा जो बहुत भूखा हो दूध के लिए। हालाँकि उसका कोई बच्चा तो हुआ नहीं था तो बहन के निप्पल्स से दूध नहीं आ रहे थे लेकिन दीपा के निप्पल्स ही इतने टेस्टी थे की मन ही नहीं हो रहा था बूब्स को मुँह से बहार निकलने का।
मैंने एक साथ बूब्स से खेल रहा था तो साथ ही बहन की पैंटी में हाथ डालके उसकी चूत को सहलाया। आह मै एक्सप्लेन नहीं कर सकता की क्या मज़ा था वो। मैंने बहन की चूत में एक ऊँगली दाल दिया और धीरे धीरे बहन की वर्जिन चूत में फिंगरिंग की।
दीपा को अभी होश नहीं आया था , और मै अब बहन के साथ सेक्स करना चाहता था , मैंने अपना लौड़ा निकला और बहन की वर्जिन चूत में लौड़ा दाल दिया। ओह आह अभी याद करके मेरा लौड़ा फिर से खड़ा हो रहा था।
ऐसे लग रहा की बहन के साथ सेक्स की कहानी अभी कल की बात है , मैंने उसकी चूत में धीरे धीरे लंड डाला जिससे उसको दर्द न हो।
लेकिन जोश में आके मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी जिससे बहन को हल्का होश आया।
बहन की आंखे खुली और उसने देखा की उसका सागा भाई उसकी चूत में लौड़ा डाल के उसकी चुदाई कर रहा था , वो बहुत तेज़ रोने लगी।
और बोली की भैया मैंने सपने में भी नहीं सोचा था की आप इतना गिर जाओगे। आप जानते भी हो की आप कर क्या रहे हो , सेक्स में इतने अंधे न हो जाओ ये भी भूल जाओ की भाई बहन के बीच रिस्ता क्या होता है। भाई बहन सेक्स कोई गंदे से गन्दा आदमी भी मन में नहीं ला सकता।
मै कुछ नहीं सुन और समझने की अवस्था में था मैंने लंड फिर से अंदर दाल दिया। दीपा चिल्लाई , आह भैया मत करो , बहुत दर्द हो रहा है।
प्लीज छोड़ दो मुझे।
मैंने बहन की चुदाई चालू राखी और उसकी एक नहीं सुना।
दीपा – आह आह आह भैया नहीं , मत डालो , निकालो। ओह मम्मी मुझे बचाओ। आह भैया ये बहुत दर्द दे रहा है। बहुत बड़ा पाप है कैसे मै दुनिआ को मुँह दिखाओगी की मैंने खुद अपने सगे भाई के साथ सेक्स किया है ,
मैंने बहिन के साथ सेक्स चालू रखा और झटके की ताक़त बढ़ाते हुए बोला तुम मेरे घर की इज्जत हो ये बात कही बाहर नहीं जाएगी कभी। और हाथो से उसकी चूचियों को दबाते हुए लंड बहन की चूत में डालना चालू रखा।
दीपा – नहीं भैया मुझे जाने दो , अब बस रहने दो , मै खुद से भी नज़र नहीं मिला पाऊँगी कभी। प्लीज मत डालो अब अंदर।
मैंने आज तक कभी किसी लड़के को बॉय फ्रेंड तक नहीं बनाया क्युकी मै किसी क साथ शादी के पहले सेक्स नहीं करना चाहती। मैने उसको उल्टा लेटा दिया अपनी ताक़त से और उसकी चूत में पीछे से चोदना सुरु कर दिया , वो अभी भी रोते जा रही थी।
उसको उल्टा लटके अब मै गाड़ में अपना लंड डालने की कोसिस करने लगा।

Bahan ki school me chudai
जैसे ही मैंने लंड डाला उसकी गाड़ में वो बहुत तेज़ चिल्लाई और तेज़ से धक्का देते मुझे दूर किया। उसने पास में पड़े चाकू को उठा लिया और बोली कुत्ते दूर हो जा मुझसे।
आज तूने दिखा दिया कितना गन्दा इंसान है। उस दिन के बाद से मैंने उससे कई बार माफ़ी मांगी , लेकिन उसने मुझे कभी माफ़ नहीं किया।
वो अक्सर घर आती रहती है , सबसे मिलती है दुसरो के सामने इतना जाहिर नहीं करती की मेरे से उसका अब भाई बहन का रिस्ता ख़तम हो गया।
वो कई बार अब भी उस रात को याद करके रोती है। मेरी वो अकेले बहन थी और काफी लाड़ली थी ,लेकिन बहन के साथ गन्दी हरकत किया मैंने मजबूर होक।
मैंने बहन के साथ चुदाई की कहानी सेक्स कहानिया साइट पे बस इसीलिए डाली है की मै चाहता की आप सब अपनी बहन के बारे में कभी गलत न सोचे। अगर चुदाई ही करनी है तो रंडी देखो और उसे चोदो लेकिन दोस्तों कभी भाई बहन के पवित्र रिश्ते को बदनाम न करना
दोस्तों मुझे आप बताओ की क्या कोई ऐसा रास्ता है जिससे मै अपनी बहन का वापस से अच्छा भाई बन जाऊ और भाई बहन रिश्ते की पवित्रता को वापस से ला पाउ और आपसे हाथ जोड़के विनती करूंगा की भाई बहन सेक्स जैसी चीजों को सर्च भी न करे कभी गूगल पे।


Spread the love

6 thoughts on “भाई बहन सेक्स को अंजाम तो दिया लेकिन बहन को खो दिया”

  1. Chut Ka deevana

    U must go to her in-laws home, touch her feet , ask apology for the insane act u committed without her consent. I am sure, she will forgive u. If not at all, tell her that I will make penitence before your husband about the wrong deed happened between us, then u think, what will be repurcussion of it. She will not only forgive u but also will give chance once again, when will come to Mayka. Okay.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *