company ke HR ki chudai कंपनी के HR की चुदाई की

Bua ki gaad me louda dala
Spread the love

यार हर कंपनी में  लड़किया कैसी भी हो लेकिन HR एक दम माल होती है और ऑफिस में काम करने वाले ऑफिस बॉय से लेके डायरेक्टर तक सबका मन होता है की उसे चोदा जाये. लेकिन लेकिन सब मेरी तरह किस्मत वाले नहीं होते जिन्हे अपने कंपनी की HR की चुदाई का सुख मिल पाए. वैसे ये मेरे लिए भी किसी सपने से कम नहीं था कुकी वो बहुत ज्यादा सुन्दर थी. मै आपको बताऊंगा की मैंने कैसे अपने कंपनी के HR  की  चुदाई (company ke HR ki chudai) की.

दोस्तों मेरा नाम अमित है और काफी फ़्लर्टी हु, अक्सर लड़किया मुझे पट जाती है और मैंने कई लड़कियों की चुदाई भी की है अपने ऑफिस में और कॉलेज टाइम में भी.

लेकिन मेरी कंपनी की जो HR है, उसके अंदर इतना ऐटिटूड है की वो चूत क्या देगी साली २ शब्द सही से बात भी नहीं करती। यार HR जो होती है वो कंपनी के मैनेजर और डायरेक्टर लेवल के लोगो से चुदाई करवाना ज्यादा प्रिफेर करती है जिससे उनको आगे प्रमोशन मिले और सैलरी भी बढे.

लेकिन ये उसकी सोच होगी लेकिन मैं जब उसको देखता था मेरा लौड़ा कुतुबमीनार बन जाता था.

उसका नाम ज्योति है, ज्योति का फिगर इतना सेक्सी है की सबका लौड़ा उसे देखके खड़ा होता रहता था. उसकी आगे २४ साल थी और चूचे कम से कम 36 रहे होंगे। अब आपको लग रहा होगा की मैंने कुछ बी फेक नंबर डाल दिया ह, इतनी बड़ी चूचिया कैसे होगी 24 साल की लड़की की. लेकिन गाइस वो हद से ज्यादा माल थी.

Company ke HR ki chudai

मैं किसी न किसी बहाने उसके केबिन में जाता रहता था, लेकिन वो साली केवल काम की बात करती थी, मुझे समझ नहीं आ पा रहा था की कंपनी के HR की चुदाई कैसे करू.घर पे आके और कभी ऑफिस के वाशरूम में जाके ज्योति को सोचके अपने लंड हिला लिया करता था बस. वैसे मैं अकेला नहीं था मेरे साथ के बन्दे भी ज्योति को चोदने का सपना देखते थे लेकिन ये करना सबके बस की बात नहीं थी, और सबकी गाड़ भी फटती थी कुकी उसके एक शिकायत से नौकरी चली जाती तुरंत इसलिए लोग बस सपनो में ज्योति की चुदाई करते थे.

लेकिन कहा जाता है ना की जब आप कुछ दिल से चाहो तो आपको मौका मिलता है. मेरे ऑफिस में एनुअल पार्टी होती है काफी बढ़िया। ज्योति एक दिन मेरे फ्लोर पे आयी और बताया की इस संडे को एक बड़े होटल में ग्रैंड पार्टी होगी, सब लोग आना और पार्टी एन्जॉय करना। उस दिन जब ज्योति फ्लोर पे आयी तो उह आह क्या कहे. मन हुआ की साला फ्लोर पे ही पटक के सबके सामने कंपनी के HR की चुदाई (company ke HR ki chudai) सुरु कर दे.

फिर वो दिन आ गया संडे का हम सब सरे दोस्त मस्त एन्जॉय कर रहे थे पार्टी में, बियर पिया चिकेन खाया और बहुत डांस किया ह. ज्योति साली बहुत ज्यादा सेक्सी ड्रेस में आयी हुई थी, उसका क्लीवेज साफ़ साफ़ अच्छा खासा दिख रहा था, ओह करंट आ गया पुरे शरीर में उस इंसिडेंट को याद करके.

मैं गया ज्योति के पास और बोलै हे ज्योति HI, कैसी है. लुकिंग beautiful.

उसने कहा, Hi अमित थैंक्स। और वापस मुड़ गयी. मुझे इतनी गुस्सा आयी की साली कितना भाव खा रही एक बार कंपनी के HR  की चुदाई (company ke HR ki chudai) का अगर मौका मिल गया न तो इसे इतना दर्द दूंगा, माँ की लौड़ी की चीखे निकलवा दूंगा

ज्योति डांस कर रही थी दारू पे दारू पीती जा रही थी, बहुत नशे में आ गयी और बिंदास होक नाच रही थी, उसकी चूचिया उछल रही थी जैसे उसके ड्रेस से बहार निकलने के लिए बेताब हो, उसकी चूचिया इतनी बड़ी थी की ड्रेस में आ भी नहीं रही थी, सबके मुँह में पानी आ रहा था सब ज्योति के दूध को चूसने के लिए बेताब दिख रहे थे, ज्योति को कुछ खबर नहीं वो तो अपनी बड़ी से गाड़ उठा के नाच रही थी, ज्योति वेटर से बतमीज़ी करने लगी नशे में. मेरे डायरेक्टर ने ज्योति को साइड में बैठाया और उसकी दोस्त रागिनी से कहा की इसे सम्भालो अगर इसे दिक्कत हो तो घर ले जाओ.

Chhoti Behan Antra ki Chudai

Antra ke Choot ki pyas mitayi

लेकिन ज्योति की हरकते बहुत ज्यादा बढ़ रही थी रागिनी ने मेरे डायरेक्टर से कहा की सर मैं ज्योति को घर ले जा रही हु. डायरेक्टर ने कहा कैब लेलो और किसी दोस्त को भी लेलो साथ में कुकी रात काफी है और तुम २ लड़किया हो केवल।

मैं वही पास में ज्योति के आस पास घूम रहा था मैंने रागिनी से पूछा क्या हुआ रागिनी, किसी हेल्प की जरूरत है क्या।

रागिनी बोलो की यार मैं तुम्हारी पार्टी बेकार नहीं करना चाहती लेकिन ज्योति को घर ले जाना है कुकी ये काफी नशे में हो राखी है.

मैंने कहा की रागिनी तुम पागल हो क्या, तुम दोस्तों हो मेरी। बोलो क्या करना है.

रागिनी ने कैब बुक कर लिया और बॉस से बोलै की सर मैं जा रही और अमित है मेरे साथ का प्रोडक्शन डिपार्टमेंट वाला। बॉस ने कहा ठीक है.

हम लोग चल दिए, कैब में थे ज्योति बीच में थी और एक साइड रागिनी। ज्योति को बिलकुल होश नहीं था, मैं इसी सोच में था की ये साली रागिनी कहा से बीच में आ गयी अब कंपनी के HR  की चुदाई (company ke HR ki chudai) कैसे कर पाउँगा।

ज्योति नशे में थी उसके हाथ मेरे लंड पे आ गया और रखा था, मुझे मज़ा आ रहा था उसकी चूचिया इतनी बड़ी थी की मुझे हल्का टच हो रही थी, मई कोहनी को लेके आ गया और उसके बूब्स को कोहनी से दबाया। मुझे  अद्भुत मज़ा आया. अब पुरे ३० मिनट के रस्ते में मैंने उसकी चूचिया को कोहनी से खूब दबाया। मुझे लगा की  इतना भी मेरे लिए काफी ह.

हम उसके घर पहुंच गए. उसे पकड़ के उसके रूम में लेके गए और लिटा दिया। रागिनी वाशरूम गयी फ्रेश होने के लिए मुझे मौका मिल गया, मैंने जल्दी से ज्योति की चूचिया दबाना सुरु  दिया, उसके बूब्स को बहार निकल के चूसने लगा. लेकिन टाइम कम था तो मैंने उसकी फोटोज लेली।

मैंने उसकी बूब्स की कई सारी फोटो और उसके प्यारी स चूत की फोटोज भी लेली। और एक सेल्फी उसके बूब्स को चूसते हुए भी निकल लिया। अब मैं उसके कपडे सही करके साइड में बैठ गया.

रागिनी आयी मैंने उससे कहा की रागिनी मैं बहार सोफे पे लेटा हु, कोई जरूररत हो तो मुझे आवाज़ दे देना। मैं बहार चला गया.

सबसे पहले मैं वाशरूम गया और उसके बूब्स चूत देखके मुठ मरी, ये मेरी ज़िंदगी की सबसे अच्छी मुठ थी. इमेजिनेशन में खूब चोदा ज्योति को.

Shadi ki rat Badi Behan ki Chudai

Badi didi ki chudai ki

मैं सोफे पे लेटा था लेकिन वही मेरे दिमाग में घूम रहा था, उसके निप्पल्स का टेस्ट मैं नहीं भूल पा रहा था. मैं सोच रहा था की क्या कोई तरीका है की मैं ज्योति अपने कंपनी की HR की चुदाई (company ke HR ki chudai) कर पाउ. एक तो साली रागिनी उसके साथ सो रही थी और डर भी था की कही रागिनी को पता चल गया और उसके बॉस या पुलिस को बता दिया तब तो मैं गया करियर भी ख़तम.

ये सब बाते मुझे समझ में आ रही थी लेकिन लौड़ा तो चूतिया है न उसे तो बस चूत चाइये। उसने मुझे वापस से परेशान किया की मुझे ज्योति की चूत  में डालो कैसे भी.

मैं उठा और दबे पाऊं उसके रूम की तरफ गया, देखा की रागिनी ने ज्योति के कपडे चेंज करा दिए और उसे नाईट मैक्सी पहना दी है.  इसमें तो ज्योति इतना ज्यादा सेक्सी लग रही थी की बस मन हुआ की लौड़ा डाल दू तुरंत ज्योति के मुँह में.

मैं एक दम शांति से जाके ज्योति के बगल में लेट गया. थोड़ा सा वेट करने के बाद मैंने हल्का सा हाथ ज्योति के पेट पे रखा. वो बिलकुल बेहोश थी, मैंने उसकी बेहोसी के फायदा उठाते हुए हाथ उसके nighty में डाल और उसके बूब्स दबाने लगा. मुझे इतना अच्छा  मौका मिला था काफी देर मैंने उसके चूचियों को मसला। मैं उसके निप्पल्स के साथ खेल रहा था मैंने उसके निप्पल्स को मुँह में भर लिया और चूसने लगा. रागिनी ज्योति के बगल में बैठी थी लेकिन वो गहरे नींद में थी.

मैं थोड़ा नीचे गया और ज्योति की मैक्सी उठा के अंदर सर डाल दिया। अब मैं उसकी चूचिया सूंघ रहा था मेरा सर उसके बूब्स के ऊपर था, मैंने उसके उसके बूब्स को मुँह में भरा और चाटने लगा, मैं कुत्ता बन चूका था और बस ज्योति के पुरे बॉडी को चाट रहा था, मैंने बहुत देर तक उसके चूचियो को चूसा। उसके निप्पल्स को चूस रहा था और एक हाथ उसके चड्ढी में डाल दिया और उसके चूत को रगड़ रहा था. काफी देर उसका दूध पिने के बाद मैंने सोचा लगता है आज कंपनी के HR की चुदाई (company ke HR ki chudai) कर लूंगा लेकिन थोड़ा मुश्किल था क्युकी अगर रागिनी की आंख खुल गयी तो काफी रिस्की हो जायेगा ये पता था मुझे।

मैं थोड़ा नीचे गया और ज्योती की चूत को सूंघा, ओहो कितना गज़ब की सुगंध थी, मुझे रहा नहीं गया मैंने उसके चूत में अपनी जुबान लगा दी, और चूत चाटते हुए एक सेल्फी लेली, काफी देर चूत चाटा, मन तो आ रहा था की लौड़ा अंदर डाल  दू. लेकिन मुझे लगा की शायद अभी ऐसा करना सही नहीं रहेगा।

Remote ke khel me Behan ko Choda

Remote lene ke chakkar ne louda le liya

मुझे लगा की रागिनी काफी नींद में है तो मैंने हल्का सा उसके बूब्स पे भी हाथ फेर लिया, ज्यादा दबाया नहीं लेकिन सहला के छोड़ दिया।

मैं फिर से वाशरूम गया और मुठ मारा। लेकिन आज मैं बहुत संतुस्ट था जैसे मुझे मेरे जीवन का लक्ष्य मिल गया।  है चूत नई ले पाया लेकिन मैंने चूत चोदने

की पूरी तयारी कर ली थी.

अगले दिन ज्योति ने मुझे थैंक्स कहा उसकी हेल्प के लिए और उस दिन से हम दोस्त बन गए. अब वो खुद मेरी सीट पे आती थी हमारी बाते होती थी.

हमारी व्हाट्स अप्प और कॉल  पे भी काफी देर बाते होने लगी. हम अच्छे दोस्त बन चुके थे लेकिन वो नहीं जानती थी की अभी मेरे मन में बस एक सपना था की कंपनी के HR की चुदाई  करना है, लास्ट टाइम उसके चूत में लौड़ा नहीं डाल पाया था और उसकी चीखे भी नहीं सुनी थी जो मुझे सुन्ना था.

 

दोस्तों ये कहानी काफी लम्बी हो गयी है अगले पार्ट २ में मै आपको बताऊंगा की मैंने कितनी बार और कितनी बुरी तरह से ज्योति को छोड़ा ऑफिस के वाशरूम में और उसके घर में जब उसके पापा भी आये हुए थे. रागिनी भी उस दिन के बाद से मेरे अगल बगल काफी मंडराने लगी.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *