Didi ki Chudai shadi ki ek rat pahle aur uski virginity todi

Shadi ki rat Badi Behan ki Chudai
Spread the love

मुझे पता है की कभी न कभी आप लोग का भी लौड़ा अपनी किसी रिस्तेदारी की बहन के लिए जरूर खड़ा हुआ होगा, कुछ लोग को मौका मिला होगा उसे चोदने का तो किसी ने कोहनी से उसकी चूचिया दबायी होगी, और कुछ लोग जिन्हे मौका नहीं मिल पाया होगा उसने बस सोचके के ही मुठ मर ली होगी, kyuki shadiyo me jo behan aati hai wo itna sundar hoti hai ki kisi ka bhi man chodne ko ho jaye, mera bhi man tha ki Didi ki chudai karu kaise bhi.

मेरा नाम राहुल है उम्र 26  और ये मेरे और बुआ के लड़की की चुदाई की कहानी है , उसका नाम सरिता उम्र 29 है वो मुझसे 3 साल बड़ी है, उसका शरीर और रूप बहुत सुन्दर है मेरी Behan ke Boobs ka size 34D hai aur height 5.6 है.

बहन को चोदना इतना आसान नहीं होता जैसे कुछ लोग बताते है, मैंने अपनी पिछली कहानी में बताया था की कैसे अपनी sagi behan Niharika ki chudai ki। वो बहुत मुश्किल था, lekin Didi ki chudai jitna thoda jyada muskil tha kuiki mai sarita didi se kafi sal bad mila tha. mujhe kuch jyada pta nahi tha unke bare me.

मेरे घर में बड़े भैया की शादी थी सारे रिस्तेदार आये थे और सरिता भी बुआ जी के साथ २ दिन पहले आयी थी. मैं उससे  दिन बाद मिला था, वो आयी तो उसको देखके मेरा लौड़ा खड़ा हो गया, वो सलवार सूट में थी फिर भी उसकी चूचिया बहुत बड़ी लग रही थी और हलके क्लीवेज दिख रहे थे. मैंने कहा दीदी आप आ गयी है अब  शादी में खूब मस्ती करेंगे।

वो रूम में गयी और शॉर्ट्स टीशर्ट पहन के नीचे आ गयी अब वो और सेक्सी लग रही थी बस मन में आ रहा था की उसके मुँह में लौड़ा डालके चोद दू, लेकिन पहले मैं उसे समझना चाहता था.

Antra ki Chudai

Most beautiful Boobs

हम साथ में  तैयारियों में लग गए लेकिन उसकी जवानी मेरे अंदर आग लगा रही थी मुझसे बर्दास्त नहीं हो रहा था, मैं किसी ने किसी बहाने से उसके बगल में या उसके पीछे खड़ा हो जाता और उसकी चूचियों को कोहनी से टच करता या पीछे से अपना लौड़ा उसकी गाड़ में लगता। पुरे दिन ऐसा ही चलता रहा और मैं हल्का हल्का मज़ा लेके खुद को शांत करता रहा. फिर रात हो गयी और सबके सोने की तैयारी होने लगी. घर उतना बड़ा नहीं था की इतने सरे मेहमानो को रूम दिया जा सके.

हम सरे भाई बहनो ने प्लान किया की छत पे सोते है और इतने दिन बाद मिले है बचपन की बाते होंगी. सब लोग ऊपर लेते और मेरी किस्मत इतनी झाटू की मैं उसके उल्टा साइड लेटा, वो एक दम आगे और मैं लास्ट। मेरे मैं आया की ये २ दिन बाद चली जाएगी कैसे भी करके इसे चोदना है, मैं सोचने लगा की कैसे करू जिससे Behan ka doodh पीने का मौका मिल जाये और अपनी  Badi Behan ki Chudai kar pau.

मेरे बगल में पानी का जग था मैंने उसे गिरा दिया और मेरे साइड पूरा पानी भर गया. मैंने कहा यार इधर तो भीग गया नीचे जा रहा हु सोने। सरिता ने कहा अरे इधर आके सो जाओ उधर रहने दो सुबह साफ़ होगा।

मैं बिस्तर लेके उसके तरफ लेट गया, इधर उधर की बाते होती रही फिर १ बजे तक सब लोग सो गए मेरे अलावा। क्युकी मुझे तो sarita ki chudai karni thi aur apni bade behan ke Booobs dabana था. आधी रात  सब सो गए तो मुझे लगा की अब सही वक़्त है, मैंने हलके से हाथ उसके साइड बूब्स पे रखा, और टच किया, आह क्या मज़ा था टच करने मात्र से ही, बस ऐसे ही टच करता रहा और डर रहा था की कही सरिता गुस्सा हो गयी और चिल्ला दिया तो मेरी गाड़ फट जाएगी, लेकिन मेरा लौड़ा मुझे मजबूर कर रहा था मैंने मैं हल्का हल्का बहिन की चूचिया सहला रहा था उसने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी उसके निप्पल्स पे उंगलियों से लग रहे थे. अब मैंने  अपने हाथ का प्रेशर थोड़ा बढ़ाया और हलके से दबाने लगा और गहरी नींद में थी. वो हल्का से हिली और मेरी फट गयी मैं वापस सीधे लेट गया.

वो मेरे तरफ मुड़ी वो बहुत नींद में लग रही थी मेरे काफी करीब थी उसका फेस मेरे सामने था. मैं हल्का से आगे हुआ उसके लिप्स मेरे सामने थे मुझसे रहा नहीं गया मैंने हलके से अपनी जीभ उसे उसके होठो को टच किया ह. उसकी लिप्सिटक का टेस्ट मस्त था और शरीर से अच्छी सुगंध आ रही थी. मैंने उसके हलके से किश किया, वो नींद में थी उसे पता नहीं चल रहा था, अब मेरा खुद पे काबू नहीं रहा और सोचा की अब जो होगा देखा जायेगा।

मैं उसे किश करने लगा और हाथ उसके टॉप के अंदर डाल, बस बूब्स सहला रहा था दबाया नहीं था और हल्का किस कर रहा था. मैंने अपनी एक टांग उसके टांग के ऊपर रख दिया और घुटनो से चुत रगड़ने लगा। मैंने बूब्स पे हाथ का प्रेशर बढ़ा दिया और किश भी सही से करने लगा, उसके तरफ से सपोर्ट नहीं था लेकिन कोई विरोध भी नहीं हो रहा था. अब उसके होठो को चूसने लगा और बूब्स को प्रेशर से दबाने लगा. उसकी साँसे तेज़ हो गयी थी लेकिन वो जगी नहीं थी।

मैंने अपना हाथ उसके शॉर्ट्स में डाल दिया और और चूत को टच करने लगा, उसने हलके से आंखे खोली जैसे उसकी नींद टूट रही हो, और मेरी तरह देखा उसके होठ में होठ से जुड़े हुए और मेरा हाथ उसके पैंटी में था. उसने हलकी स आवाज़ में कहा पागल लड़के क्या कर रहा, अपनी बहिन के साथ ऐसा करता है क्या कोई। मैंने कहा दीदी आप इतनी सुन्दर हो जबसे आयी हो आपको प्यार करने का मन हो रहा मेरा। सरिता ने कहा देख रही दिन से ही तुम्हारा प्यार तुम्हारे पैंट में खड़ा दिख रहा है नोटिस कर रही थी मैं.

मैंने कहा दीदी एक दम शांत रहो कोई जग जायेगा, और आपकी नेक्स्ट मंथ शादी है फिर तो कभी हम साथ नहीं होंगे ये पल बार बार नहीं आएगा, वो मुस्कुराई और कहा आवाज़ मत करो बिलकुल।

और किस में साथ देने लगी, मैं उसके होठो को चूसने लगे बहुत मीठे होठ थे और हाथ से उसके चूत को रगड़ने लगा, अब मैं अपने असली जगह गया और उसके टॉप को ऊपर किया, मेरी बड़ी बहिन की चूचिया बहुत सुन्दर थी, मैंने बूब्स को चाटना सुरु कर दिया, पहले बूब्स और निप्पल्स को चाटा सही से फिर निप्पल्स को मुँह में भरके हलके से दबाने लगा. निप्पल्स को चूस  रहा था मैं छोटे बच्चो के जैसा। वो आंखे बंद करके आनंद ले रही थी, मैंने अपनी ऊँगली उसके चूत में डाल दी और बूब्स चूसता रहा. मैं दूसरी दुनिआ में था मेरा सपना आज पूरा हो रहा था, अब मैं नीचे सरक गया और उसके टांगो के बीच में घुस गया.

बहुत हलके से मैंने उसकी चूत को सूंघा बहुत मदमोहक खुसबू आ रही थी और अपनी जीभ लगाके चाटने लगा. काफी देर तक मैं चाटा, फिर बहिन को उल्टा करके हल्का हल्का उसके गाड़ में अपना लौड़ा रगड़ने लगा. एक साथ से उसके बूब्स दबा रहा था और पीछे से अपना लंड उसके गाड़ में रगड़ रहा था.

अब मैं पागल हो गया था और चूत में लौड़ा डालना चाहता था, लेकिन छत पे नहीं कर सकता था कुकी सब लोग सो रहे थे.

मैंने उससे धीरे से कहा वाशरूम में आओ.

मैं गया उसके 10 मिनट वो आयी. मेरा लौड़ा बैठ गया था तब तक, सरिता ने मेरे लौड़े को मुँह में लेके चूसना सुरु कर दिया, मुझे नहीं पता था की वो इतना अच्छा लौड़ा चूसती है, बहुत मज़ा आ रहा था. मैंने उसका सर तेज़ से अपने लौड़े से दबाया और उसके मुँह को चोदने लगा, कई शॉट्स मरे उसके मुँह में और उसकी माँ चोद दी. Sarita didi ki chudai karte krte mai use galiyaa bhi de raha tha, jisse mujhe usko chodne ke mze aur mil gye the. subah se uski gaad dekh dekhke mai pagal ho gya tha.

मैंने उसको सीधा किया और लौड़ा उसकी चूत में डालके पेलने लगा, बहुत रिस्क था की कही कोई आ ना जाये। जल्दी जल्दी में चोदा और फिर वो वापस से चली गयी, 10 मिनट बाद मैं गया, हमने एक दूसरे के आंखे में देखा और शर्मा रही थी. मुझे तो बड़ा फक्र हो रहा था.

दोस्तों मई तुम्हे बताना चाहता की दुनिआ में सबसे आसान काम अपनी बुआ या मौसी की लड़की को चोदना है. अगर थोड़ा प्रयास करोगे तो उनकी चूत मिल सकती है. लेकिन अगर उसके तरफ से हां न हो तो दुरी बनके रखे, bas dhyan se dekho aur halka halka apni didi ke boobs ko kohli se touch kro, Behan sab smjhegi apki aur agar use bhi loude ki jrurat hui to wo apko kuch hint degi aur aap bhi apne didi ki chudai kar payenge.

अभी कहानी ख़तम नहीं हुई मेरी, कुकी मैं अभी सरिता को मन भरके चोद नहीं पाया था, अभी मुझे उसकी चीखे निकलवानी थी, शादी के पुरे दिन वो मुझसे शर्मा रही थी, कही मौका मिल रहा था तो मैं उसकी चूचिया दबा दे रहा था, मैंने उससे डील किया की आज रात या कल सही मौका मिला तो तुम्हे मैं ढंग से

चोदुँगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *