पहली बार छोटी बहन का दूध पिया बीएड एग्जाम के बाद

bahan ka doodh piya
Spread the love

छोटी बहन का दूध पीना मेरे लिए कुछ ऐसा था जैसा किसी बरसो से प्यासे इंसान को पानी मिल जाये। लेकिन बहन का दूध पीना उतना आसान नहीं था की छोटी बहन मेरे घर में आये और आते ही अपनी चूचिया मेरे मुँह में भर दे।

bahan ka doodh piya
शालू मुझसे आगे में 3 साल छोटी है और हम भाई बहन कम दोस्त ज्यादा हैं। शादी के पहले उससे केवल मेरा भाई और बहन का रिस्ता था , लेकिन बाद में कुछ ऐसी चीजे हुई की हमने रिश्ते की परिभाषा बदल दी।
लड़की की जब तक शादी नहीं होती है वो अलग होती है , एक बार शादी के बाद वो पूरी तरह अलग हो जाती है, शादी के बाद जब मेरी बहन शालू जब घर आयी तो उससे मै २ साल बाद देखा , उसका शरीर बहुत बदल गया था। उसके बूब्स बहुत बड़े हो गए थे और गाड़ काफी फ़ैल गयी थी।
वैसे ये तो मैंने पहले भी काफी सुना था की शादी के बाद लड़की जब माँ बनती है तो उसके बूब्स और गाड़ में मांस बढ़ जाता है , लेकिन शालू में इतना बदलाव आएगा ये देखके तो मै हैरान था।
शादी से पहले वो देखने में तो काफी सुन्दर थी गोरी लम्बी लेकिन उसका शरीर इतना कामुक नहीं था। लड़किया जब अपने माँ के घर आती है तो बहुत आज़ाद रहती है। क्युकी वो सेफ फील करती है और सोचती है की घर में कौन उसे गलत तरिके से देखेगा।
मैंने भी कभी बहन के शरीर पे गौर नहीं किया था लेकिन अब बहन का कामुक शरीर मुझमे गलत भावनाये ला रहे थे।
शालू घर में टॉप और लोअर पहन के रहती थी और मज़े की बात ये है की वो ब्रा भी नहीं पहनती थी , उसके बूब्स तो पहले से इतना बड़े थे और नुकीले निपल्स टॉप के फाड़ते हुए बहार आते हुए नज़र आते थे।
मैं चाह कर भी सगी बहन की चूचियों को नजरअंदाज नहीं कर पा रहा था। बहन के निप्पल्स देखके मन में बस एहि आये की इन्हे अभी निचोड़ डालू और बहन का सारा दूध पि जाऊ। मैं वाशरूम में बहन के दूध को पीते हुए इमेजिन करता और छोटी बहन के नाम की मुठ मारता।
मैंने http://incestsexstory.in/ पे बहुत सारी परिवार में चुदाई की कहानिया पढ़ी थी तो लगता था की मैं अकेला नहीं हु, कई जगह भाई बहन सेक्स की कहानिया होती है।

bahan ka doodh piya
कई जगह सगी बहन ने भाई से चुदवाया है और रिश्ते भी बरकरार है , मैंने सोचा की कही कुछ ऐसा मौका मिल जाये जिससे बहन का दूध पि के उसकी चुदाई कर दू और हमारे रिश्ते में कोई आंच भी न आये।
हालाँकि ये केवल सपने जैसा ही था , हमारे देश में तो भाई बहन के बीच चुदाई किसी बहुत बड़े अपराध से कम नहीं है। तो मुझे इस बार की ज्यादा उम्मीद नहीं थी की मै बहन को छोड़ पाउँगा।
शालू का बीएड का एग्जाम था उसी के सिलसिले में वो इतने दिन रुकी थी , एग्जाम के दिन मै उसे छोड़ने गया बाइक से एग्जाम सेण्टर पे , शालू और घर के बगल की बहन रूचि भी साथ में थी।
हम तीनो बाइक से ट्रपलिंग करके जा रहे थे , शालू मेरे पीछे बैठी थी और रूचि सबसे पीछे। घर से करीब 20km सेण्टर गया था उसका, और उस एरिया की रोड्स बहुत खराब थी। शालू की बड़ी बड़ी चूचिया मेरे पीठ में अंदर एक दम घुसी हुई थी।
मुझसे बहन की चूचिया का पूरा एहसास हो रहा था। बहुत अद्भुत दिन था वो। मै चाहता था की कभी वो रास्ता ख़तम न हो , इतना अच्छे ढंग से बहन के बूब्स मेरे पीठ पे रगड़ खा रहे थे , मै आउट ऑफ़ वर्ल्ड फील कर रहा था।
मन में इतना वासना भरी हुई थी की बस इतना ही चल रहा था दिमाग में की अभी बाइक रोक दू और शालू को चोद दू। बहन की चूत के लिए अब मै पागल होने लगा था।
एग्जाम सेण्टर आ गया, शालू ने एग्जाम दिया तब तक मै बाहर उसका इंतज़ार कर रहा था। एग्जाम के बाद वो बहार आयी और वापस हम घर की तरफ चल दिए। पुरे रस्ते मैंने बहन की चुचिओ को फील किया।
घर पहुँचके सबसे पहले मै वाशरूम गया , वह बहन की ब्रा राखी थी , उसे सूंघा। बहन के दूध की खुशबू थी उसमे। आह। अलग ही आनंद था। मैंने आंखे बंद करि और ब्रा सूंघते हुए इमेजिन किया की मै बहन का दूध पि रहा हु।
मै अब बस सपने देखने लगा और सोचने लगा की ऐसा क्या करू की छोटी बहन का दूध निचोड़ निचोड़ के पि जाऊ। शालू मेरे सामने हरषि को दूध पीला रही थी। उससे मेरे सामने बिलकुल जैसे शर्म नहीं आ रहा था ,
मै साइड से चोरी से बहन का निप्पल्स देख रहा था। और देख रहा की हरषि कितने मज़े से बहन का बूब्स चूस रही है। थोड़ी देर बाद शालू ने अपनी चूचिया अंदर करके ब्लाउज बंद कर लिया। मै सब देख रहा था।
2 दिन बाद हमारे पड़ोस में शादी थी , शालू सड़ी ब्लाउज पहन के तैयार हो रही थी , मैंने उसके रूम में गया तो देखा की वो अभी ब्लाउज और पेटीकोट में सीसे के सामने खड़ी है।
शालू बहुत सेक्सी लग रही थी , उसके बूब्स बहुत शेप में और नुकीले थे , बोली की भैया मै कैसी लग रही। मैंने कहा की पारी जैसी लग रही। मज़ाक में बोलै की तुम्हारे ब्लाउज का कलर भी अच्छा लग रहा है।
वो हसने लगी और बोली की वह नज़र न ले जाओ , बहन हुई आपकी छोटी। मैंने कहा की कौन ले जाना चाहता है लेकिन इतना अच्छा लग रहा ह की खुदसे चला गया।
शालू ने कहा की क्या अच्छा लग रहा ह आपको , मैंने बोलै की तुम्हारी ब्लाउज का कलर।
वो हसने लगी और बोली की आप कुछ और देखके कह रहे की अच्छा लग रहा है , मैंने मस्ती में बोलै की हां वो भी अच्छा लग रहा।
शालू बोली भैया आप बहुत बदमाश हो गए हो जल्दी ही आपकी शादी करवाती हुई मम्मी से कहके।
मैंने कहा की वैसे एक बात बोलू बुरा न मनो तो ?

lockdown me bahan ki chudai
शालू – बोलो न भैया। आपकी किसी बात का बुरा मन है क्या कभी।
मै- यार शालू सच बता रहा हु की शादी के बाद तुम बहुत सुन्दर हो गयी हो और तुम्हारा फिगर भी अच्छा हो गया है।
शालू – हाहा अच्छा थैंक यू। और फिर शालू हरषि को दूध पिलाने लगी। मैं वही बैठा था।
हरषि कभी दूध पीती तो कभी दूध को हाथ मार और दूध बाहर गिर जाता। दूध शालू की साड़ी पे गिर गया और उसे शादी में जाना था तो मै
पानी लाया और साफ करने लगा। मैं उसके बूब्स के काफी पास था। मैंने साड़ी साफ़ करते करते उसके बूब्स को भी टच कर दिया।
शालू सकपका गयी , अरे ये क्या भैया ?
मैं – अरे वो उसपे दूध लगा हुआ था ऊपर से तो मुझे लगा की कही तुम्हारे ब्लाउज में न लग जाये। शादी में अच्छा नई लगेगा अगर कुछ ऐसा दिखा।
शालू – है ये बात सही ह आपकी। ठीक है साफ़ कर दीजिये। शालू हरषि को दूध पीला रही थी। मैंने उसके बूब्स को ऊपर से थोड़ा साफ क्र दिया।
बहन की चूचियों पे पूरा दुध उतर आया था और हरषि पि नहीं रही थी , मैंने शालू से कहा की तुम्हारे दूध का टेस्ट अच्छा नहीं है क्या। की हरषि पि क्यों नहीं रही।
शालू – आप ही पि के टेस्ट करलो की अच्छा है या बुरा , इसका पेट भरा होगा इसलिए नहीं पि रही , आप तो कुछ भी बोलते हो।
उसके मुँह से इतना सुनते ही मैंने उसके निपल्स को मुँह में भरके बहन का दूध चूस लिया।
शालू ने मुझे धक्का दिया। भैया आप एक दम पागल हो गया। मैंने तो बस मज़ाक किया था। दूर हटो। सगी बहन हु मै आपकी।
मैंने बहन की चूचिया छोड़ दिया , लेकिन दूध अब भर चूका था चूचियों और ओवर फ्लो होने लगा। शालू ने कहा की अब पि लो इसे वरना पुरे कपडे ख़राब होंगे मेरे आज।
मैंने वापस से शालू के बूब्स मुँह में भर लिया। आह ओह मै बता नहीं सकता कितना प्यारा टेस्ट था बहन के दूध का। उस दिन मैंने बहन की चूचियों को निचोड़ निचोड़ के छोटी बहन का दूध पिया।
मेरा लंड खड़ा था बहुत टाइट और शालू को भी दिख रहा था की मेरे पैंट में हलचल हो रही है। उसके इग्नोर किया। और मुझसे मुँह बनाते हुए गुस्से में बोली की आप का मन भर गया हो बहन के दूध पिने से तो चलिए शादी में भी जाना है ,
हम शादी में गए और दोनों की नज़र एक दूसरे से टकरा रही थी तो तुरंत हटा रहे थे , आंख नहीं मिला पा रहे थे। क्युकी दोनों को पता था की आज जो कांड घर पे हुआ है वो बहुत बड़ा है।

bahan ka doodh piya
शादी से वापस घर जा रहे थे हम जब तो पीछे मै बहन और हरषि थे और आगे मम्मी पापा। मैंने कोहनी से बहन की चूचियों को हिलाया।
उसने मुझे चिकोटी काटी और बोली की भइआ सीधे बैठो। मुझसे रहा नहीं जा रहा था मैंने अपना हाथ बहन के जांघ पे रख दिया। उसने मेरा हाथ हटा दिया।
मैंने वापस से रख लिया अब उसने कुछ नहीं कहा। मैं धीरे धीरे बहन की जांघो को मसलने लगा। उसने घूर के गुस्से में देखा। मैंने कहा क्या हुआ।
उसने धीरे से कहां की कुछ नहीं , आप घर पे चलो बताती हु आपको।
मैंने अपने हाथ बहन के पेट पे रख दिए , उसे लग गया की मैं मैंने वाला नहीं हु तो उसने अब ज्यादा कुछ नहीं कहां। हाथ पेट से मैंने उसके पेटीकोट के अंदर दाल दिया।
उसने भाई प्लीज यार। मत करो। पापा है सामने कुछ तो शर्म करो। मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था मैंने हाथ बहन की चूत पे रख के रगड़ा।
और पुरे रस्ते अपना हाथ उसके पेटीकोट के अंदर ही रखा।
जैसी ही घर पहुंचे हम वो मुझे रूम में लेके गयी और इतनी तेज़ गरजने लगी मुझे।
शालू – आप एक दम घटिया इंसान हो। अपने छोटी बहन के साथ ऐसी हरकत करते हुए शर्म तो आती नहीं है। अभी पापा को एक बार बता दू तो बस सुधर जाओगे।
पापा को नहीं बता रही हु वरना बहुत बुरा झेलोगे , आखिरी बार कह रही हु बड़े भाई हो इसलिए माफ़ कर दिया है , दोबारा माफ़ नहीं करूंगी। मैंने सॉरी बोला और अपने रूम में आ गया।
मैंने ऊँगली को सूंघा जो उसकी पेटीकोट में थे पुरे रस्ते। बहुत कामुक सुगंध थी। मैंने उंगलियों को चाटा और सोच लिया फिर से बहन का दूध पीना है और सगी छोटी बहन की चुदाई भी करनी है।
अगले दिन मैं शालू के रूम में गया वो हरषि को दूध पीला रही थी , मेरी नज़र बहन के निप्पल्स पे गयी लेकिन मैं खुद को संभाला और पास में बैठ गया।
मैं – शालू कल के लिए सॉरी। मैंने नहीं चाहता था कुछ ऐसा करना लेकिन का तुम्हारा दूध पिया दिन में और रस्ते में तुम्हारे deo की स्मेल ऐसी थी की खुद पे काबू नहीं रहा
शालू – तो मै अब जिस दिन वो deo लगाऊंगा तुम फिर ऐसी हरकत करोगे ये क्या बात होती है।
मैंने कहां की उसमे कुछ ऐसा है ही। तुमने आज फिर वही लगा रखा है। लेकिन कण्ट्रोल कर रहा हु खुदपे।
शालू – अच्छा वरना क्या करते?
मैं – यार शालू दूध पीने का बहुत मन हो रहा थोड़ा पीला दो प्लीज ।
शालू – दूध पीला सकती हु कुकी काफी ज्यादा हो रहा है और हरषि थोड़ा ही पीती। लेकिन तुम वडा करो की केवल बहन का दूध ही पियोग। और कोई भी गलत हरकत नहीं करोगे ?
मैं – पक्का। मैं बहन के चूचियों पे कूद पड़ा। पहले मैंने छोटी बहन की चूचियों को सुंघा। आह बहन के दूध की महक ही इतनी कामुक होती है।
मैंने बहन के निप्पल्स को मुँह में भरके चूसने लगा। मैं बहन का दूध दोनों हाथो से निचोड़ निचोड़ के पि रहा ता।
शालू – भैया आराम से। आह।
मैंने – हलके से निप्पल्स को चाट रहा था बूब्स को दबा रहा था। उसको भी कुछ फील होने लगा था।
मैंने ज्यादा कुछ सोचे बिना उसके साड़ी के अंदर घुस गया और उसकी चूत पे जीभ लगा दी। शालू मुझसे धक्के दे रही थी लेकिन मैं हटा नहीं और चाटने लगा।
शालू – ओह भैया , आह आह। मत करो। गलत है ये।
इतना कहते हुए उसने अपनी दोनों टांगे खोल दी। मैंने उसकी टांगे फैलते हुए चूत को चाटा। ऊँगली डाल डाल के बहन को उत्तेजित किया।
शालू – भैया ये पाप न करो कह रही थी और खुद ही मेरे सर को अपनी चूत में घुसेड़ति जा रही थी।
मैंने अपना लंड शालू के हाथ में पकड़ा दिया। वो मन कर रही थी फिर काफी कहने से लंड को पकड़के हिलाने लगी।
मैं अपना लंड बहन के मुँह में देने लगा। शालू नहीं भैया ये मत करो।
मैंने जबरदस्ती नहीं किया और वापस उसके बूब्स को चूसने लगा, अपना लंड उसकी चूत पे रगड़ रहा था।
शालू ने मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत पे रख दिया और बोली की भैया अपनी बहन को चोद दो अब। इतना मन करने पे माने तो हो नहीं तो अब ख़तम करो सरे रिश्ते की मर्यादा आज।

Chhoti bahan ko ghodi banake choda
मैंने कहां नहीं। आज मेरा मन नहीं है। और मै चला गया उसे आधे पे छोड़ के।
इतने सब के बाद हमारे बीच सारी शर्म ख़तम हो गयी थी और मै चाहता था की वो मुझसे बार बार कहे की भैया मुझे चोदो। मुझे पता था की शादी सुदा और की चूत की गर्मी एक बार जगा दो तो उसे शांत करने के लिए कुछ भी करेगी
अब शालू मेरे सामने जानके पूरी चूचिया ओपन करके दूध पिलाती हरषि को , मुझसे बोली की भैया दोनों मदद करो मेरी।
कपडे ख़राब हो रहे ह। थोड़ा इन्हे पि सकते हो क्या। मैंने कहां ठीक है।
मैंने बहन का दूध पिने के लिए मुँह लगा दिया। आज वो बहुत अला तरिके से दूध पीला रही थी। उसने खुद मेरे मुँह में पुरे निप्पल्स भर दिया और निचोड़ के दूध की धार गिराने लगी।
बहुत मस्ती से मैंने दूध पिया। बहन ने मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाते हुए बोली की आप जब अपनी बहन का दूध पीते हो तो ये क्यों खड़ा हो जाता है , क्या चाहता है ये।
मैंने बहन का दूध छोड़ा और उसे लेटा के अपना लंड डाल दिया।
शालू – आह , इतने दिन से क्यों इसे वो नहीं दे रहे थे जो चाहता था। मैंने कहां की मै तुम्हे हमेसा चोदना चाहता हु अब तुम मुझे कभी मन नहीं करोगी।
शालू बोली की चोदो भैया, अपनी शादी सुन्दर सगी छोटी बहन को चोद के राक्षश बन जाओ। चोदो। और चोदो
उस दिन मैंने शालू को 2 बार चोदा।
अब शालू की चुदाई मै अक्सर करने लगा। जब मन होता सगी बहन का दूध पि लेता। शालू अपने घर वापस चली गयी।
हम कॉल पे भी सेक्स चैट करते है। वो लास्ट रक्षाबंधन में आयी थी। मैंने रक्षाबंधन में बहन की चुदाई की। ये स्टोरी मैं आपको बताऊंगा फिर स।
अगर आपको मेरी कहानी पसंद आयी हो तो आप बताओ की अपने भी कभी या आपके किसी दोस्त ने अपने सगी बहन की चुदाई की है??


Spread the love

20 thoughts on “पहली बार छोटी बहन का दूध पिया बीएड एग्जाम के बाद”

    1. yaha stories me jo technique hai use follow kro.
      Master advice- Sote samay uske bagal me let jao, aur sone ki acting krte hue uske boobs ko dabao. agar wo jyada react na kre to hatho ko uske panty me daal dena aur mze lena.

  1. Mujhe Bhi chodna Hai Yar Apni Bahen Ko Kaise Chodu Uska Doodh Aur gaand pagal kar rhi mujhe please suggest me kaise usko chodu aur Doodh pin Hai 2 bahne hai dono Ko chodna Chahta Hu Mujhe Bass Doodh Pina Hai Aur chodna Hai Kaise Bhi

    1. yaha stories me jo technique hai use follow kro.
      Master advice- Sote samay uske bagal me let jao, aur sone ki acting krte hue uske boobs ko dabao. agar wo jyada react na kre to hatho ko uske panty me daal dena aur mze lena.

  2. Mene apni sagi bahun ko choda
    Bahin ko chodne mai bahut maja ata hai
    Meri bahin bahut achhe se mujh se chudati hai mene hi bahan ko sil todi
    Aab mujhe apni choti bAhan ki bhi chodna hai 9719223600

  3. Mujhe v apni choti behan ko chodna hai uske boobs ko dabane hai zor zor se uski chut me lund dalna uske ganr ur boobs pagl bana rha hai kaise chodu usko samjh ni aa rha hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *