Remote ke khel me Behan ki Chudai

Remote ke khel me Behan ko Choda
Spread the love

दोस्तों नाम आयुष है , मैं 28 साल का लड़का हूं और लखनऊ में रहता हूँ. मैं यहाँ php developer हूँ और मेरे परिवार में 6 लोग है. दो भाई दो बहिन और माँ पापा।

एक भाई और बहिन मुझसे बड़े है और एक बहिन मुझसे छोटी है जिसका नाम निहारिका है. निहारिका की उम्र 22 साल है. आज मैं आपको बताऊंगा की मैंने कैसे अपने बहिन की चुदाई की.

ये कहानी मेरे और मेरी बहिन  निहारिका के बीच की है. निहारिका की चुदाई इतनी आसान नहीं थी न ही मेरे मन में कभी ऐसा आया था, वो हमारी छोटी गुड़िया है, लेकिन वो गुड़िया कब बड़ी हो गयी और उसकी चूचिया मेरी बड़ी दीदी से भी बड़ी हो गयी पता ही नहीं चला.

Khel khel me behan ko choda

Chhoti behan ko chodne ka mza

निहारिका के बूब्स का साइज 34D है और ये बहुत टाइट शेप में है. दोस्तों बड़ी उम्र के औरतो की चूचियों का साइज बढ़ता है तो देखने में अच्छा लगता है, लेकिन छोटी उम्र की लड़कियों की बड़ी चूचिया आग लगा देती है, छोटी लड़कियों की बड़ी चूचिया अलग ही जादू डालती है.

दोस्तों में मैं आपको बताऊंगा की मैंने कैसे  बहन को होली में चोदा और निहारिका की होली में चुदाई की.

निहारिका की उम्र बढ़ रही थी और उसका शरीर धीरे धीरे बदल रहा था. उसकी चूचिया और गाड़ का साइज किसी 30 साल की लड़की जैसा था.

मैं एक दिन सोफे पे बैठके टीवी  देख रहा था निहारिका रूम  झाड़ू लगाने आयी, उसने मुझसे पैर ऊपर  करने को कहा और झाड़ू लगाने लगी, जैसे वो झुकी उसमे बूब्स टॉप से बहार आने लगे और क्लीवेज दिखा अच्छे से, मेरी आंखे खुली रह की मेरी छोटी बहिन के बूब्स इतने सुन्दर है, वो मुड़ी दूसरे तरफ झाड़ू लगाने के लिए तो उसका गाड़ मेरे सामने था

अब मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. मैंने खुदसे कहा की ये तू कितना बड़ा पाप कर रहा है अपनी सगी बहिन की चुदाई के बारे में सोच रहा. लेकिन सेक्स जब दिमाग  आता है तो कुछ नहीं समझ आता.

निहारिका की चुदाई के बारे में मैं सोचने लगा, मैं अपनी सगी बहिन का दूध पीना चाहता था बहिन के बूब्स को मसल डालना चाहता था. वो जब स्कूल जाती थी तो स्कर्ट और शर्ट पहनती थी, छोटी लड़की जिसके बड़े बूब्स हो वो शर्ट पहने तो कैसा लगता है आप समझ सकते है  मन में आता था की शर्ट के बटन तोड़ के और ब्रा फाड़ के उसके बूब्स खा जाऊ.

ये चीजे चलती रही और मैं बाथरूम में जाके उसके ब्रा को सूंघता और मुठ मारता। रात को अपने  कमरे में भी आंखे बंद करके उसे नंगा करता और अपनी सगी छोटी बहन की चुदाई करता।

लेकिन अपनी सगी बहन की चुदाई करना आसान नहीं होता क्युकी डर लगता है कही माँ पापा या किसी और को पता चल गया तो ज़िंदगी के लौड़े लग जायेंगे।

मैं रूम में बैठे न्यूज़ देख  रहा था वो बिगबॉस देखना चाहती थी, उसने रिमोट उठा के चैनल चेंज कर दिया मैंने कहा न्यूज़ लगा उसने नहीं  लगाया और मैं उससे रिमोट छीनने लगा, वो भाग रही थी मैंने उसे पीछे से पकड़ा और रिमोट लेने  तो मेरा लंड उसकी गाड़ में पीछे से घुसने लगा, मुझे बहुत मज़ा आया  उसे भी एहसास हुआ. मैंने उससे रिमोट ले लिया।

मुझे ये ट्रिक अच्छी लगी की बहाने से निहारिका की गाड़ मे लौड़ा डालू और कोहनी से बूब्स दबाउ। अब मुझे कोई भी मौका मिलता किचन में या सोफे पे कही भी मैं अपना लौड़ा सटाने लगा निहारिका की गाड़ में और निहारिका के बूब्स दबाने लगा.

दोस्तों ये ऐसी चीज जिसमे लड़कियों को भी बराबर मज़ा आता हैं, निहारिका को भी अब समझ आने लगा था धीरे धीरे।

एक दिन घर में कोई नहीं था बस मैं और निहारिका थे नीचे रूम में और ऊपर रूम में दीदी थी. मैंने न्यूज़ देख रहा था और निहारिका उस दिन शॉर्ट्स और शर्ट में थी और उसने रिमोट लेके चैनल चेंज  कर दिया और रिमोट छिपाने लगी. निहारिका को मैंने पीछे से पकड़ा और इस बार ज्यादा फाॅर्स से उसके गाड़ में लंड सटा दिया और रिमोट छीनने लगा, मैं तेज़ में लंड दाल रहा था शॉर्ट्स के ऊपर से और रिमोट छीनने की कोसिस कर रहा था, इतने में गलती से मेरा हाथ उसके शर्ट्स पे ऐसा लगा की २ बटन टूट गए और उसके बूब्स काफी बहार आ गए.

फिर उसने सोच लिया था की रिमोट नहीं देगी इतनी जल्दी, मैंने उसे सोफे पे पटक लिया और उसके गाड़ में पीछे से लंड मसलने  लगा उसे मज़ा आ  रहा था और वो रिमोट के बहाने अपनी गाड़ में मेरे लौड़े का मज़ा ले रही थी,  अब मेरा कंट्रोल खुदसे खो गया और मैं उसके बहन के बूब्स दबाने लगा शर्ट के ऊपर से ही, उसने मुझे धक्का दिया और बोली तुम पागल हो क्या,  छोटी बहन हु मैं तुम्हारी भैया  वो अपने रूम में चली गयी.  मुझे बुरा भी लगा और डर भी लेकिन मज़ा भी बहुत आया जब सोफे पे उसके ऊपर लेट के उसके गाड़ में लंड डाल रहा था और निहारिका चूचिया दबा रहा था.

Remote ke khel me Behan ko Choda

Remote ke khel me chhoti Behan ko Choda

मैं उसी टाइम उसके रूम में गया और माफ़ी मांगने लगा, काफी सॉरी बोलै की तुम मेरी छोटी बहन हो बचपन से देखा है तुम्हे कभी कुछ गलत नहीं सोचा लेकिन उम्र के साथ गलती हो  है, उसने कहा कोई बात नहीं भैया। मैंने उसे हग करने लगा और मेरे लौड़े ने आगे से उसकी चूत को टच कर लिया अब  फिर से दिक्कत सुरु हो गयी.

मैं उसकी चूत में शॉर्ट्स  ऊपर से लौड़ा घुसेड़ने लगा और उसे टेबल पे बैठा दिया।

निहारिका : भैया क्या कर रहे हो अभी तो अपने सॉरी बोला है और वापस से वही हरकत।

मैं : बेबी मुझे माफ़ करदो मुझे नहीं पता की मैं ये क्यों कर रहा हु. और मैं उसे जबरदस्ती किश करने लगा , उसके होठो पे उसके गर्दन पे. निहारिका ने मुझे फिर से फिर से धक्का देके अलग किया।

मैं : मैंने उसे वापस से पकड़ा और उसे किश करने लगा, मैंने कहा की अभी मुझे सही गलत पाप पुण्य कुछ नहीं समझ रहा, मुझे बस तुम्हे चोदना है और अपनी प्यारी छोटी बहन का दूध पीना है. और वैसे भी तुम दिल्ली जाने वाली हो दोबारा ये कभी नहीं होगा, और मैं उसे वापस  से चूमने लगा.

निहारिका : बहुत मजबूर हु मैं, ठीक है लेकिन ये बात किसी को पता नहीं चलनी चाइये और न ही ये दोबारा  होना चाइये।का: भैया ऐसा मत करो बहुत गलत है, मुझे तुमपे बहुत दया आ रही है. खुदपे काबू करो.

मैं : तुम मुझपे भरोसा रखो, तुम मेरी छोटी बहन हो और मेरे घर की इज्जत हो, फिर वापस से उसे किश करने लगा और उसके बड़ा बड़े बूब्स दबा रहा था रहा था. मैं अब पागलो के जैसा उसका शर्ट फाड़ दिया और उसके ब्रा को निकालके फेक दिया। मेरी छोटी बहन की बड़ी चूचिया मेरे सामने थी,  इतने भारी बूब्स और निप्पल्स। मैं बता नहीं सकता की कितना अच्छा लगा वो देखके। मैंने तुरंत निहारिका के बूब्स पकड़के मुँह में भर लिए,  और उसे चूसने लगा. मैं दूसरी दुनिआ में था. मैंने बहुत देर तक बूब्स दबाये और उन्हें मन भरके चूसा, चाट चाट के लाल कर  मैंने. निहारिका भी मेरा अब पुरा साथ  दे रही थी और चूचिया मेरे मुँह में  थी.

निहारिका: चूसो इन्हे भैया और चूसो बहुत मज़ा आ रहा है, पूरा खा जाओ इन्हे। तुम्हारे ही है ये.

मैं : मैंने निहारिका को उल्टा किया उसका शॉर्ट्स उतर के गांड में लंड रगड़ने लगा और बूब्स दबाता रहा. वो अपनी गांड मेरे लौड़े में और सटा रही थी और धक्के दे रही थी. मैंने उसे टेबल पे बैठाया और उसकी नंगी चूत देखने लगा और उसमे उंगलि करने लगा,

निहारिका : आह  आह , यस भैया मेरी चूत चाटो आज तक किसी ने तुम्हारी बहन को न देखा है न टच किया है तुम पहले हो. चाटो मेरी चूत भैया कुत्ते बन जाओ

मैं : मेरा बेबी इसी दिन  मुझे इंतज़ार था, तुम्हारी चूत ही मेरी दुनिआ है और मैं चाटने लगा.निहारिका तुम चूत बहुत टेस्टी है. मैंने उसकी टांगे फैला  चाटने लगा. आज मेरा सपना सच हो रहा था. मैं पागलो की तरह चूत छाती उसके पैर चाटे।

निहारिका : मेरे सर को और तेज़ी से अपनी चूत में  घुसेड़ते हुए, यस भैया और चाटो इन्हे बहुत मज़ा आ रहा. कबसे अपनी सही बहन को चोदने के लिए पागल हो, जो इस तरह से चाट रहे हो मेरी चूत को जैसे ये कोई बहुत बड़ी मुराद पूरी हो गयी तुम्हारी।

मैं: तुम्हारी चूत चोदने का सपना पहले का है. और ये कहते हुए मैंने उसकी गाड़ भी चाटी।

निहारिका : भैया अपनी छोटी बहिन को अपना लौड़ा तो दिखाओ, और निहारिका ने मेरा लौड़ा बहार निकालके चूसने लगी. भैया कितना मोटा है ये मेरी वर्जिन चूत को प्यार से  चोदना अगर मुझे ज्यादा दर्द हुआ तो कभी चोदने भी नहीं दूंगी।

मैं : चूस मेरा लौड़ा, यस. और चूसो इन्हे। मेरी कुतिया है आज से तू.  चूस साली और तेज़ से चूस.  और तेज़ी से मैं उसके मुँह में अपना लौड़ा डालने लगा.  उसके गर्दन तक उसके मुँह को चोदा।

निहारिका : बहुत दर्द हो रहा है लेकिन मज़ा भी आ रहा है, चूसने में.  चोद डालो आज अपनी छोटी बहन को, फाड़ डालो बहन की चूत. अब अपना लंड मेरी चूत में डाल्दो।

बर्दास्त नहीं हो रहा है। चोदो अपनी छोटी बहन को.

मैं: मैंने अब अपनी प्यारी सी गुड़िया को सीधा लेटाया और उसकी टाँगे फैला के अपना लंड धीरे धीरे  डाला। वो तेज़ चिल्ला रही थी लेकिन सेक्स के मज़े के आगे साडी सजा कम है.  अब मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में दाल दिया और झटके मरने लगा. अद्भुत मज़ा आ रहा था. अब मैं  झटके मार रहा था जैसे मुझे उसके दर्द से कोई फर्क नहीं पड़ रहा हो.

बहुत देर तक उसे अलग अलग  स्टाइल में उसे छोड़ा। मैंने अपनी प्यारी  सी गुड़िया को चोद रहा था पागलो की तरह.

निहारिका: आह भैया मुझे नहीं पता था ये की इसमें  मज़ा है, और तेज़ से चोदो बाद में देखेंगे जो बी होगा  आज जैसे चाहो अपनी बहन की चूत चोदा लो। यस.  चोदो भैया

मेरी गाड़ में भी डालो अपना लंड.

मैं: मैंने निहारिका को उल्टा किया और उसकी गाड़ में लंड डाल दिया वो चिल्लाई लेकिन वो सेक्स के भूख से पागल दी. मैंने एक रिमोट के लिए बहन को चोद रहा था

बहुत  तक चोदने के बाद मैंने अपना सारा सफ़ेद पानी बहन के मुँह  डाल दिया उसने उसे चाटा और हम दोनों नंगे ही थोड़ी देर लेते रहे साथ में.

थोड़ी  देर बाद जब सेक्स का भूत उतरा हमपे से तो  एक दूसरे से आंख नहीं मिला पा रहे थे, फिर मैंने उसे देखा और उसने मुझे देखा और हसने लगे. मैं वापस से उसे पकड़ लिया और  फिर से चोदा।

२ दिन बाद वो दिल्ली चली गयी इंजीनियरिंग की पढाई करने और मैं यहाँ  उसके बिना रह गया.

दोस्तों रिमोट के लिए बहन की चुदाई कहानी इतनी बड़ी हो गयी की मैं आपको नहीं बता पाया की मैंने कैसे अपनी सगी बहन को होली में चोदा। मै इस कहानी को आगे आपको बताऊंगा की मैंने निहारिका की चुदाई होली में कैसे की.

यकीन मानिये वो बहुत ज्यादा इंटरेस्टिंग है, अगली कहानी में मैं बताऊंगा की क्या हुआ जब होली की छुटियो में निहारिका अपनी मुस्लिम दोस्त आमरीन खान के साथ घर आयी.


Spread the love

2 thoughts on “Remote ke khel me Behan ki Chudai”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *